शादी के कार्ड पर “ईवीएम पर प्रतिबंध लगाओ, लोकतंत्र बचाओ” का संदेश

मुंबई : महाराष्ट्र के लातूर जिले के एक व्यक्ति ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के उपयोग के प्रति विरोध जताने के लिए अपने शादी के निमंत्रण कार्ड का इस्तेमाल किया. चाकुर तहसील के अजनसोंडा (खुर्द) निवासी दीपक कांबले की शादी के निमंत्रण कार्ड पर संदेश छपा है, “ईवीएम पर प्रतिबंध लगाओ, लोकतंत्र बचाओ.’’
कांबले की शादी आठ जून को लातूर शहर में होने वाली है. कांबले ने कहा कि कई शहरों में विरोध प्रदर्शन और रैलियां आयोजित की जा रही हैं और प्रदर्शनकारियों ने चुनाव आयोग से मतपत्र की तरफ फिर से लौटने का आग्रह किया है.
जागरूकता फैलाने के लिए छपवाया
कांबले ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘2024 के लोकसभा चुनाव से पहले इस आंदोलन ने गति पकड़ ली थी. अपने रिश्तेदारों और दोस्तों के बीच जागरूकता फैलाने के लिए मैंने शादी के निमंत्रण कार्ड पर ईवीएम के खिलाफ अपना विरोध छपवाया है.’’
स्वतंत्रता सेनानियों की तस्वीरें छपवाई
अखिल भारतीय पिछड़ा (अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग) और अल्पसंख्यक समुदाय कर्मचारी महासंघ के सदस्य कांबले ने अपनी शादी के निमंत्रण कार्ड पर संतों, समाज सुधारकों और स्वतंत्रता सेनानियों की तस्वीरें और उनकी कुछ शिक्षाएं भी छपवाई हैं.
निमंत्रण कार्ड में मराठी में लिखा है ”संविधान द्वारा दिए गए अधिकारों के अनुसार, और अपने देश को समृद्ध बनाने की दिशा में एक कदम आगे बढ़ाने के लिए हमें अपनी आवाज संसद तक पहुंचानी चाहिए और इसके लिए प्रत्येक वोट महत्वपूर्ण है”. निमंत्रण के अनुसार, ‘लोकतंत्र’ और ‘मतदाता’ एक-दूसरे से शादी कर रहे हैं. कार्ड पर विवाह स्थल को ‘आपका मतदान केंद्र’ के रूप में सूचीबद्ध किया गया था.